Banner DAREMega Seed on RiceFood from Water- Aquaculture Pond in OdishaMigrating Sheep flocksBlack Pepper

भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद का 89वां स्थापना दिवस और पुरस्कार वितरण समारोह

देश को खाद्यान्न सरप्लस बनाने में भाकृअनुप की महत्वपूर्ण भूमिका - कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री

16 जुलाई, 2017, नई दिल्ली

केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री राधा मोहन सिंह ने भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के 89वें स्थापना दिवस और पुरस्कार वितरण समारोह को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित करते हुए देश में हरित क्रांति का सूत्रपात करने में परिषद की अग्रणी भूमिका की सराहना की। उन्होंने कहा कि कृषि वैज्ञानिकों के प्रयासों के कारण ही आज हमारा देश खाद्यान्न की कमी वाली स्थिति से निकलकर खाद्यान्न उत्पादन में आत्मनिर्भर और अब सरप्लस खाद्यान्न की स्थिति तक पहुंच सका है। कृषि मंत्री ने बताया कि आज देश की जीडीपी में कृषि एवं संबद्ध सेक्टर की भागीदारी 18 प्रतिशत है। इसके साथ ही उन्होंने इस वर्ष 274 मिलियन टन रिकार्ड खाद्यान्न उत्पादन के लिए भी किसानों के साथ परिषद द्वारा उपलब्ध करवाई जा रही आधुनिक प्रौद्योगिकियों, गुणवत्तापूर्ण बीजों और अन्य किसानोपयोगी सेवाओं की भी तारीफ की।

89th Foundation day and Prize Distribution Ceremony89th Foundation day and Prize Distribution Ceremony89th Foundation day and Prize Distribution Ceremony

कृषि मंत्री ने बताया कि कैसे कृषि अनुसंधानों की बदौलत सन् 1951 से देश में खाद्यान्न के उत्पादन में 5 गुना, मत्स्य उत्पादन में 14.3 गुना, दुग्ध उत्पादन में 9.6 गुना और अंडा उत्पादन में 47.5 गुना की बढ़ोतरी हुई है। इसी प्रकार बागवानी फसलों में 1991-92 की तुलना में फल और सब्जी उत्पादन में तीन गुना वृद्धि हुई है।

श्री राधा मोहन सिंह ने अपने संबोधन में कहा कि वर्तमान सरकार कृषि में टिकाऊ विकास के लिए अनेक कदम उठा रही है। इस क्रम में उन्होंने भावी लक्ष्यों का भी उल्लेख किया जिनमें वर्ष 2018 तक 2.85 मिलियन हैक्टर क्षेत्र को सिंचाई सुविधाओं के अंतर्गत लाना, ग्राम पंचायतों एवं नगर पालिकाओं को 2,87,000 करोड़ रुपये की सहायता प्रदान करना तथा सभी गांवों तक बिजली पहुंचाना आदि प्रमुख हैं।

मंत्री महोदय ने इस बात पर प्रसन्नता व्यक्त की कि आईसीएआर के देशव्यापी संस्थानों, कृषि विश्वविद्यालयों और विभिन्न विस्तार विभागों द्वारा भारत सरकार की सॉयल हैल्थ कार्ड स्कीम को अत्यंत सफल बनाया गया है।

केंद्रीय कृषि एवं कल्याण किसान कल्याण राज्य मंत्री श्री सुदर्शन भगत समारोह में विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित थे।

89th Foundation day and Prize Distribution Ceremony89th Foundation day and Prize Distribution Ceremony89th Foundation day and Prize Distribution Ceremony89foundationdayicar-05.JPG

इस अवसर पर मुख्य अतिथि और अन्य गणमान्यों ने भाकृअनुप के विभिन्न प्रकाशनों, ज्ञान उत्पादों और नई तकनीकों को जारी किया। इसमें राष्ट्रीय कृषि उच्च शिक्षा परियोजना का शुभारंभ; खाद्यान्न फसलों की नई किस्में और नैदानिक किटों एवं प्रौद्योगिकियां का विशेष तौर पर उल्लेख किया जा सकता है।

कृषि मंत्री श्री राधा मोहन सिंह ने कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री के साथ भाकृअनुप के विभिन्न पुरस्कार भी वितरित किए। इस वर्ष 19 वर्गों में 122 विजेताओं को चुना गया, जिसमें तीन संस्थान, दो एआईसीआरपी, 12 केवीके, 80 वैज्ञानिक, 19 किसान सम्मिलित हैं। इनमें तीन कृषक महिलाएं भी शामिल हैं।

 89th Foundation day and Prize Distribution Ceremony89th Foundation day and Prize Distribution Ceremony89th Foundation day and Prize Distribution Ceremony

इससे पूर्व, डेयर के सचिव और भाकृअनुप के महानिदेशक डा. त्रिलोचन महापात्र ने सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए कृषि विकास में परिषद की उपलब्धियों और योगदान के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

डेयर के अपर सचिव और भाकृअनुप के सचिव श्री छबिलेंद्र राउल ने समारोह के अंत में धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया।

भाकृअनुप के शासी निकाय के सदस्य, परिषद और कृषि मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी, परिषद के संस्थानों के निदेशक, विभिन्न कृषि विश्वविद्यालयों के कुलपति, वैज्ञानिक और कर्मचारी भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

(स्रोत : भाकृअनुप-कृषि ज्ञान प्रबंध निदेशालय, नई दिल्ली)